Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

श्री पंचमी व्रत 2018 – श्री पंचमी व्रत विधि | Shri Panchami Vrat

goddess-lakshmi

goddess-lakshmi

श्रीपंचमी व्रत चैत्र शुक्ल पंचमी को मनाया जाता है| इसलिए तृतीया को संपूर्ण स्नान करके शुद्ध वस्त्र आदि धारण कर व्रत का संकल्प करें| घृत, दही एवं भात का भोजन करें |

चतुर्थी को स्नान करके व्रत रखें और पंचमी को प्रातः स्नान आदि के पश्चात लक्ष्मी का पूजन करें| २०१८ में श्री पंचमी २२ मार्च के दिन किया जाता है|

पूजन में धान्य, हल्दी, अदरक, गन्ना, गुड और लवंगादि अर्पण करके कमल के पुष्पों का लक्ष्मी-सूक्त से हवन करें| यदि कमल न मिले तो दिल के टुकड़ों का और वह भी न हो तो केवल घी का हवन करें और कमल से युक्त तालाब में स्नान करके स्वर्ण का दान करें|

श्री पंचमी व्रत करने से श्री की प्राप्ति होगी| यह व्रत लक्ष्मी पंचमी नाम से भी कहलाया जाता है|

Write Your Comment