शीघ्र विवाह के लिए टोटके | Sheegra Vivah Totke

शीघ्र विवाह के लिए टोटके..

आपने अपने पासपड़ोस में एक दो ऐसे स्त्री पुत्र अवश्य देखंें होगें जिनकी आयु काफी ज्यादा है किन्तु उनका विवाह अभी तक नहीं हुआ है। ऐसी कई वजह हो सकती है जिनकी वजह से किसी स्त्री अथवा पुरूष के विवाह में विलम्भ होता है। ऐसे कई टोकटे और उपाय हैं जिनको करने से ऐसी वाधाओ से मुक्ति प्राप्त हो सकती है और शीघ्र विवाह हो सकता है। आईये ऐसे ही कुछ टोटके और उपायों के बारे में जानते है।

1. ज्योतिष शास्त्र में विवाह में विलम्ब के लिए कई उपाय बताये गये। ज्योतिष शास्त्र में ऐसे कई कई मंत्रो बताये गये है जिनके पाठ करने मात्र से विवाह में आ रहीं बाधाओं को दूर किया जा सकता है।एक मंत्र जो कि दुर्गा सप्तशती के अर्गला में बताया गया है को 11 वार प्रतिदिन स्नान आदि के उपरान्त जाप करना चाहिए। यह मंत्र केवल पुरूष के लिए बताया गया हैै।

मंत्र पत्नी मनोरमा देही मनोवृत्तानुसारिणीम्। तारिणी दुर्गासंसारसागरस्य कुलोöवाम।

2. भगवान शिव की पूजा करन से स्त्रियों को मनचाहा पति मिलता है। यदि लड़कियाॅ भगवान शिव की पूजा करती है तो उनके विवाह मंे आने वाली समस्त वाधायें दूर हो जाती हैं और जल्द ही लड़कियों की विवाह हो जाता है। भगवान शिव की पूजा करने के लिए लड़कियों को पाॅच नारियल की आवश्यकता होती है। इन नारियल को भगवान शिव प्रतिमा अथवा फोटो के समक्ष रखकर निम्न मंत्र का जाप पाॅच माला करना होता है। मंत्र का जप करने के उपरान्त, नारियल को भगवान शिव के मंन्दिर में चढ़ाया जाता है। इस विधि को करने मात्र से आपकी पुत्री के विवाह में आने वाली समस्त वाधायें समाप्त हो जाती है।

मंत्र ऊॅ श्रीं वर प्रदाय श्री नमाः

इन उपाओं के अतिरिक्त कुछ टोटके भी विवाह में आने वाली वाधाओं को समाप्त करने में काफी कारगर है कुछ टोटके नीचे दिये गये

1. यदि किसी लड़के की शादी में अड़चने आ रही है और उसकी शादी नहीं हो पा रही है तो ऐसे में आपको भगवान गणेश की पूजा करनी चाहिए और उन्हें पीले रंग की मिठाई चढ़ानी चाहिए। ऐसा करने से लड़को का विवाह शीघ्र हो जाता है।

2. यदि आपकी कन्या के विवाह में कोई व्यवधान आ रहा है या किसी वजह से देरी हो रही है तो आप एक नारीयल, 700 ग्राम गुड़, 7 केले लेकर शुक्ल पक्ष में प्रथम व्रहस्पतिवार को किसी नदी अथवा तालाब के किनारे जाये और कन्या को वस्त्रों स्नान करने को कहे। जब कन्या स्नान करके वापस आ जाये तो जटाओं वाला नारीयल लेकर कन्या के ऊपर ऊसारकर नदी या तालाव के पानी में छोड़ दें। अब एक केला व थोड़ा सा गुड़ चन्द्रदेव के लिए व एक केला व गुड़ सूर्य देव के नाम लेकर उन्हे नदी के किनारे रख चन्द्र देव व सूर्य देव नमन करना चाहिए। अव थोड़ा गुड़ आप व कन्या दोनो प्रसाद समझकर ग्रहण करें। वची हुई सम्रग्री किसी गाय को खिलायें।

3. जिस किसी व्यक्ति या कन्या के विवाह में अड़चने आ रही हों उसको हमेंशा एक पीला कपड़ पहनना या पास रखना चाहिए।

4. पूर्णिमा के दिन यदि आप किसी वट वृक्ष के 108 चक्कर लगाते हैं तो विवाह शीघ्र हो जाता है।

Write Your Comment