धनु राशिफल मार्च 2018 | Dhanu Rashifal March 2018 | धनु राशि भविष्य

धनु राशि मार्च 2018 की मासिक राशिफल, पढ़े धनु राशि की दैनिक एवं साप्ताहिक राशि भविष्य मार्च 2018..

नाम के अनुसार धनु राशि: ये, यो, बा, बि, बी, भू, ध, भा, ढ, भे|

नक्षत्र के अनुसार धनु राशि: मूल नक्षत्र का चारों चरण; पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र का चारों चरण; उत्तराषाढ़ा नक्षत्र का प्रथम चरण |

पाश्चात्य ज्योतिष के अनुसार  धनु राशिवाले वे है जो २३ नवम्बर और २१ दिसम्बर दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि) |

भारतीय वैदिक ज्योतिष के अनुसार धनु राशिवाले वे है जो १६ दिसम्बर और १४ जनवरी  दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि) |

धनु राशि के लिए शुभ मुहूर्त २०१८

धनु राशि भविष्य – 1 मार्च से 7 मार्च 2018

इस सप्ताह में नए कार्य की योजना बनेगी | नए कार्य को योजनाबद्ध तरीके से करने पर ही लाभ की स्थितियां बनेगी | नौकरी में अफसरों से संपर्क बढ़ेगा | धन लाभ व उन्नति के विशेष अवसर प्राप्त होंगे | क्रय विक्रय करते समय अपनी बुद्धि और विवेक से कार्य करें |

अष्टम राहु के कारण स्वास्थ्य कुछ ढीला, संतान संबंधी कुछ चिंता एवं निकट बंधुओं से ग़लतफ़हमी के कारण चिंता की स्थिति बनेगी |

धनु राशि भविष्य – 8 मार्च से 14 मार्च 2018 

गुरु वक्री एवं मंगल भी इसी राशि में शनि युक्त संचार करने से क्रोध एवं आवेश की भावनाएं अधिक रहेगी | व्यर्थ खर्च अधिक होंगे | चतुर्थ भाव पर मंगल की शुभ दृष्टि होने से भूमि, वाहन आदि पर विशेष खर्च होंगे | कार्य व्यवसाय संबंधी नई योजनाएं भी बनेगी |

अष्टम राहु के कारण स्वास्थ्य संबंधी परेशानी, मानसिक तनाव एवं दांपत्य जीवन में भी चिंता उत्पन्न होगी |

धनु राशि भविष्य – 15 मार्च से 23 मार्च 2018

इस सप्ताह में धनु राशि वालों को मंगल का संचार एवं शनि की साढ़ेसाती के कारण अत्यधिक परिश्रम करने पर भी निर्वाह योग्य आय के साधन बनते रहेंगे | धार्मिक कार्यों में रुचि जागृत होगी | निकट बंधुओं से मतभेद एवं तनाव की स्थिति रहेगी |

आय कम और खर्च अधिक रहेंगे | व्यवसायिक उलझने बढ़ेगी | ऋण आदि लेने की नौबत आ सकती है | सावधानी से रहें | साझेदारी के कार्यों में परेशानी के योग है |

धनु राशि भविष्य – 24 मार्च से 31 मार्च 2018

धनु राशि वालों के लिए मंगल शनि का संचार इसी राशि पर होने से व्यवसाय में उतार-चढ़ाव रहेगी | अत्यधिक भागदौड़ करने पर भी निर्वाह योग्य आय के साधन बनते रहेंगे | लाभ स्थान गुरु वक्री स्थिति में होने से क्रोध की अधिकता, मान सम्मान में वृद्धि और परिवार में शुभ मंगल कार्य भी संपन्न होंगे |

सप्ताहांत में स्वास्थ्य ढीला, शत्रु भय, मानसिक तनाव, भाई बंधु से मतभेद एवं चोट आदि का भय रहेगा |

इस माह में धनु राशि वालों के लिए श्री बृहस्पति स्तोत्र का पाठ करना, श्री सुंदरकांड का पाठ करना शुभ फलदायक प्राप्त रहेगा |

Write Your Comment