Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

कौन सी गलतिया करने से कौन सी ग्रह देती है अशुभ फल | Nine Planets & bad results for your wrong deeds

कौन सी गलतिया करने से कौन सी ग्रह देती है अशुभ फल | Nine Planets & bad results for your wrong deeds? Here is an analysis on how can each planet give bad results based on your various mistakes..

Sun

When a native evades any sort of tax money or troubles any being, Sun gives inauspicious results.

सूर्य-

जब जातक किसी भी प्रकार का टैक्स चुराता है एवं किसी भी जीव की आत्मा को कष्ट देता है। तब सूर्य अशुभ फल देता है।

Moon

Moon gives bad results when you insult or trouble most respected persons in your life such as mother, sister, grandmother, mother-in-law or any other equally related persons to them. If you snatch others’ things by cheating or by betrayal, Moon gives inauspicious results.

चंद्र-

जब जातक सम्मानजनक स्त्रियों को कष्ट देता हैं। जैसे- माता, नानी, दादी, सास एवं इनके समान वाली स्त्रियों को कष्ट देता है तब चंद्र अशुभ फल देता है। धोखे से किसी से कोई वस्तु लेने पर भी चंद्रमा अशुभ फल देता है।

Mars

Mars gives bad results if you cheat your brother or brother-in-law (spouse’s brother) or unnecessary quarrel with brother.

मंगल-

जब जातक अपने भाई से झगड़ा करें, भाई के साथ धोखा करें। अपनी पत्नी के भाई का अपमान करें, तो भी मंगल अशुभ फल देता है।

Mercury

Mercury gives bad results when the native troubles sister, daughter, mother’s sister, sister-in-law or any other equally related persons. Troubling eunuchs is also a reason for malefic Mercury for the native.

बुध-

जब जातक अपनी बहन, बेटी अथवा बुआ को कष्ट देता है, साली एवं मौसी को कष्ट देता है। जब जातक हिजड़े को कष्ट देता है, तो भी बुध अशुभ फल देता है।

Jupiter

Jupiter gives bad results when the native troubles father, grandfather or any other equally related persons. Guru Bhagawan also gives bad results when native troubles Sadhus or Sants.

गुरु-

जब जातक पिता, दादा, नाना को कष्ट देता है अथवा इनके समान पद वाले व्यक्ति को कष्ट देता है। साधु-संतों को कष्ट देने से भी गुरु अशुभ फल देता है।

Venus

Venus gives bad results when the native betrays or troubles spouse. Shukra also gives bad results if you use torn or bad clothes at home.

शुक्र-

जब जातक जीवनसाथी को कष्ट देता है। घर में गंदे एवं फटे वस्त्र रखने एवं पहनने पर भी शुक्र अशुभ फल देता है।

Saturn

Saturn gives inauspicious results when native troubles paternal uncles such as father’s elder brother or younger brother. Shani also gives bad results when native won’t give deserved salary to his servant and scolds or abuses servant of home or worker at business place. Those who takes home or shop on rent and afterwards won’t vacate on repeated requests of the owner also gets the punishment from Shani Bhagawan.

शनि-

जब जातक ताऊ, चाचा को कष्ट देता है, मजदूर की पूरी मजदूरी नहीं देता है। घर या दुकान के नौकरों को गाली देता है। शराब, मांस खाने पर भी शनि अशुभ फल देता है। कुछ लोग मकान या दुकान किराए से लेते फिर बाद में खाली नहीं करते या खाली करने के लिए पैसे मंगाते है, तो शनि अशुभ फल देता है।

Rahu

Those who insults or troubles elder brother invites the punishment from Rahu. Rahu gives inauspicious results to the native who insults and troubles maternal relatives. Those who kill snakes would invites the effects of Rahu’s malefic nature.

राहु-

जब जातक बड़े भाई को कष्ट देता है या अपमान करता है। ननिहाल पक्ष का अपमान करने पर एवं सपेरे का दिल दुखाने पर या कभी किसी सर्प को मारने पर भी राहु कष्ट देता है।

Ketu

The native who troubles brother-in-law will get the bad results from Ketu. Those who kill dog will get negative results of Ketu. Ketu gives bad results to those who demolishes temples or other religious or godly places. Put up false allegations on any one and giving false evidences will invite the wrath of Ketu.

केतु-

जब जातक भतीजे, भांजे को कष्ट देता है या उनका हक छीनता है। कुत्ते को मारने या किसी के द्वारा मरवाने पर, मंदिर की ध्वजा तोड़ने पर केतु अशुभ फल देता है। किसी की झूठी गवाही देने पर भी राहु-केतु अशुभ फल देते हैं |

अत: नवग्रहों का अनुकूल फल पाने के लिए मनुष्य को अपना जीवन व्यवस्थित जीना चाहिए, किसी का दिल नहीं दुखाना चाहिए। न ही किसी के साथ छल-कपट करना चाहिए।

Write Your Comment