Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

मृगशीर्ष नक्षत्र फलम 2019 | मृगशीर्ष नक्षत्र भविष्य

मृगशीर्ष नक्षत्र फलम 2019, मृगशीर्ष नक्षत्र भविष्य 2019 हिंदी में.. मृगशीर्ष नक्षत्र सनातन ज्योतिष क्षेत्र की २७ नक्षत्र चक्र में पांचवी नक्षत्र है |

नक्षत्र के अनुसार वृषभ राशि: कृत्तिका नक्षत्र का दूसरा, तीसरा और चौथा चरण; रोहिणी नक्षत्र का चार चरण; मृगशीर्ष नक्षत्र का पहला और दूसरा चरण | नक्षत्र के अनुसार मिथुन राशि: मृगशीर्ष नक्षत्र का तीसरा और चौथा चरण; अरुद्रा नक्षत्र का चार चरण; पुनर्वसु नक्षत्र का पहला, दूसरा और तीसरा चरण.

जनवरी २०१९

धनलाभ की सुचना है| आपका मानसिक संतुलन और व्यक्तित्व आपको उंचाईयों की तरफ लेजायेगा | स्वस्थ और अर्थ व्यवस्ता आपके दशा के अनुसार अच्छी स्तिति में है| वस्त्रलाभ की सुचना और गेहने भी खरीदने की सुचना| आपके घरवालों को भी वस्त्रलाभ और अभरणलाभ की सुचना |

पश्चिम दिशा में सफर करेगा| आपके धैर्य और आत्मविश्वास सबको चकित करेगा | नौकरी और व्यापर की दृष्टिकोण में, ये एक अच्छी समय है, वृद्धि दिखती है| आपके बॉस के द्वारा प्रशंसा मिलेगी, और ग्रहाकोंसे भी अभिनन्दन की सुचना |

उपाय

1] दत्तात्रेय पूजन करे | 2] शिवलिंग की अभिषेक करे| शिव पंचाक्षरी मंत्रं जाप करे | 3] गरीब छात्रों को किताब वगैरा खरीदके दे |

फरवरी २०१९

बॉस के द्वारा आपको एक चेतावनी मिलने की आशंका है| आपको इस माह अस्त्र भीति और अग्नि भीति की आशंका है यानी आपको किसी अस्त्र या आग से डर होने की सूचना है|

कुछ काम आपको असंतुष्ट करने की आशंका है| उदास रहते हुवे इस माह बिताते है| आर्थिक स्तिथि अच्छी नहीं रहेगी| पैसों की कमी महसूस कर सकते है|| दक्षिण और दक्षिणी पश्चिम दिशा में सफर करने की सम्भावना है| सफर के वक्त आप बेचैन होजाते है|

आप को कई व्यक्तियों से अनावश्यक नफ्रत पैदा हो सकता है| ये नफ्रत आपके लिए महंगा साबित हो सकता है| अफसरों के साथ बात करते समय आप अपने संभाषण पे ध्यान दे और विश्वास के साथ बात करे |

उपाय

1] मंगल स्तोत्रं (कुज स्तुति) अथवा कुछ दुर्गा स्तोत्र का पाट करे | 2] शिवजी की पूजन करे| प्रतिदिन शिव भगवन की दर्शन करे | सप्ताह में एक दिन (मंगलवार) मंदिर में रुद्राभिषेक करवाये |

मार्च २०१९

इस माह में आपके बहुत बड़ी दुश्मन है – आपके क्रोध (गुस्सा). आपके मन में घबराहट से एक तनावपूर्ण स्तिति होगी, जिससे आप हार का सामना करना पड़ेगा | बुरी आदतों से दूर रहे | चोर भीति आपके यात्राओं की मधुर अनुभव को छीनलेगी |

हृद्रोग, ट्यूबरक्लोसिस और अस्थमा जैसे रोगों से सतर्क रहे | आप इन रोगों से पीड़ित हो तो इस बार और भी सावधान रहे |

धनहानि की आशंका है | नौकरीपेश वर्ग के लिए यह उतार-चढ़ाव की समय होगी | नौकरी बदलने की, स्थानांतरण (ट्रांसफर) के लिए करने की प्रयास और म्हणत फलदायक नहीं होगा |

उपाय

१] नवग्रह मंदिर की दर्शन करें | राहु के लिए विशेष पूजन करे | राहु स्तुति की जाप करें | २] माँ दुर्गा की दर्शन और विशेष पूजन करें | ३] किसी भी मंगलवार के दिन ‘राहुकाल दुर्गा पूजन’ करने से विशेष फल मिलेगा और बाधाएं दूर होंगे |

Write Your Comment