Vrishabha Rashifal 2017-2018 in Hindi | वृष राशि भविष्य २०१७-२०१८

नाम के अनुसार वृष राशि: , , , , वा, वी, वू, वे, वो|

नक्षत्र के अनुसार वृषभ राशि: कृत्तिका नक्षत्र का दूसरा, तीसरा और चौथा चरण; रोहिणी नक्षत्र का चार चरण; मृगशीर्ष नक्षत्र का पहला और दूसरा चरण|

पाश्चात्य ज्योतिष के अनुसार वृष राशिवाले वे है जो २१ अप्रैल और २१ मई दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि)|

भारतीय वैदिक ज्योतिष के अनुसार वृष राशिवाले वे है जो १५ मई और १५ जून दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि)|

वृष राशि २०१७-२०१८ वर्ष में आय और व्यय के पट्टिका

आय – २

व्यय – ८

वृष राशि २०१७-२०१८ वर्ष में राजपूज्य, अवमान के पट्टिका

राजपूज्य – ७

अवमान – ३

२०१७-२०१८ में वृष राशिवालों के घरेलु जीवन कैसे रहेगा

वृष राशिफल २०१७-२०१८ के अनुसार आपको संतान पक्ष की ओर से कोई शुभ समाचार मिलेगा| आपका पूरा ध्यान दैनिक सुख सुविधाओं को अर्जित करने पर रहेगा| वैवाहिक जीवन में अपने जीवन साथी को समय दें और वाद विवाद से बचें|

इस वर्ष के दूसरे भाग में आपका वैवाहिक जीवन बहुत सुखपूर्ण होगा| अपने शिष्टाचार से आप परिवार वालों और सगे सम्बन्धियों का मन जीत लेंगे| जीवन साथी को कोई स्वास्थ्य सम्बंधित समस्या हो सकती है|

२०१७-२०१८ में वृष राशिवालों के नौकरी या रोज़गार कैसे रहेगा

शनि के आठवें भाव में होने के कारण इस वर्ष अधिक परिश्रम करने की आवश्यकता है| आपके सभी कार्य पूर्ण होने के संकेत मिल रहे हैं परन्तु आपको धीरज से काम लेना होगा| अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए उसमे कुछ नयापन लाने का प्रयास करें|

अपने प्रयासों और दृढ निश्चय के कारण आप जल्दी ही सफलता प्राप्त कर सकेंगे| नौकरी अथवा व्यापार के कारण आपको अपने निवास स्थान से अलग रहना पड़ सकता है| यदि आप अपने व्यापार को बढ़ाने की सोच रहे हैं तो सावधानी बरतने की आवश्यकता है| आपके विरोधी आपके सामने नहीं टिक पाएंगे|

वृषभ का २०१७-२०१८ का राशिफल स्पष्ट संकेत दे रहा है कि अप्रैल माह से आपको आमदनी के नए रास्ते दिखेंगे| शेयर बाज़ार में निवेश करने से लाभ होगा| प्रॉपर्टी का कार्य भी सफलता दिलाएगा| साल के मध्य से आपका समय अच्छा हो जायेगा और बिगड़े हुए कार्य बनेंगे| नौकरी अथवा व्यवसाय के कारण आपको विदेश जाने का मौक़ा मिल सकता है|

२०१७-२०१८ में वृष राशिवालों के शिक्षा और पढ़ाई कैसे रहेगा

छात्रों के लिए यह वर्ष एकदम शुभ है| आपके परिश्रम और अभ्यास से अच्छे परिणाम मिलेंगे| यदि आप प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो समय का उपयोग अच्छे से करें|

वृषभ का २०१७-२०१८ का भविष्यकथन बताता है कि उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों को सफलता मिलेगी और अच्छे अवसर प्राप्त होंगे| एकाग्रता शक्ति बढ़ेगी और शिक्षा सम्बंधित कार्यों में उन्नति मिलेगी|

२०१७-२०१८ में वृष राशिवालों के अर्थव्यवस्था कैसे रहेगा

इस वर्ष का आरम्भ ख़र्चों के साथ होगा| सुख सुविधाओं पर आप अधिक ख़र्च करेंगे| आपको धनार्जित करने पर ध्यान देना होगा अन्यथा समस्या उत्पन्न हो सकती है| अपने व्यवसाय से आपको एक संतुलित आर्थिक सहायता मिलती रहेगी|

वर्ष के दूसरे भाग में धन कमाने के अच्छे अवसर मिलेंगे| वृष के २०१७-२०१८ के भविष्यफल के अनुसार धन मिलने के स्त्रोत बढ़ेंगे और आर्थिक स्थिति सुधरेगी| शेयर बाज़ार आदि से लाभ मिलने की संभावना है| आप जितना अधिक परिश्रम करेंगे उतना अधिक धन अर्जित कर पाएंगे|

२०१७-२०१८ में वृष राशिवालों के स्वास्थ्य कैसे रहेगा

इस वर्ष पेट रोग और एलर्जी आपको परेशान कर सकते हैं| खान-पान में बदलाव की आवश्यकता है अन्यथा गैस और बदहज़मी हो सकती है| नियमित व्यायाम, सुबह की सैर और भरपूर नींद से आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा|

२०१७-२०१८ में वृष राशिवालों के प्रेमप्रसंग कैसे रहेगा

इस वर्ष आपके आकर्षण में वृद्धि होगी| प्रेमी युगल बहुत प्रसन्न रहेंगे| आप अपने साथी की भावनाओं का पूरी तरह ध्यान रखेंगे| कुछ नए मित्र बनने के संकेत मिल रहे हैं|

आप शारीरिक सुख से अधिक मानसिक शांति पाना चाहते हैं| किसी की ओर से प्रेम प्रस्ताव आ सकता है| आप किसी विपरीत लिंगी की ओर आकर्षित हो सकते हैं|

२०१७-२०१८ में वृष राशिवालों के लिए उपाय / नुस्खा

प्रतिदिन ये जाप मंत्र पठन करे : ॐ गोपालाय उत्तरध्वजाय नमः

ग़रीब बच्चों और साधू सन्यासियों को भोजन कराने से लाभ होगा|

लक्ष्मी जी की आरती और चालीसा का नियमित पाठ करना न भूलें|

शुक्रवार को छोटी कन्याओं को सफ़ेद मिठाई खिलाएं और धार्मिक स्थल पर खीर बांटें|

सफ़ेद चन्दन, सुगन्धित पदार्थ और सफ़ेद वस्त्र का उपयोग लाभकारी सिद्ध होगा|

Leave a Reply

4 Comments

  1. किशोर काळे says:

    14/1/1984 वेळ स. 7 रास व्रषभ
    जन्मनाव ईश्वर
    लाभदायक व्यावसाय कोणता करू
    आता पर्यंत समाधान करणार वास्तविक जोतिष्य सला देणारा भेटला नाही .

  2. Bhagavatamrt says:

    rashi bhavisay for the born babi on 19/3/2013

  3. govind r thakur says:

    I would like to know about astakantak dosh its causes and the measures to
    overcome them.
    govind.

  4. UDHAV K JADHAV says:

    miri shadi kis naam ki ladki ke saath hogi