Ahoi Ashtami Vrat Katha in Hindi | अहोई अष्टमी व्रत कथा

अहोई अष्टमी का व्रत सन्तान की उन्नति, प्रगति और दीर्घायु के लिए होता है| यह व्रत कार्तिक कृष्ण पक्ष की अष्टमी को किया जाता है| दीपावली के ठीक एक हफ्ते  पहले पड़ती है l अहोई अष्टमी का व्रत विधि व्रत करने वाली स्त्री को इस दिन उपवास रखना चाहिए| सायं काल दीवार पर अष्ट कोष्ठक की […]

Ravivar Vrat Katha in Hindi

प्राचीन काल में एक बुढ़िया रहती थी. वह नियमित रूप से रविवार का व्रत करती. रविवार के दिन सूर्योदय से पहले उठकर बुढ़िया स्नानादि से निवृत्त होकर आंगन को गोबर से लीपकर स्वच्छ करती, उसके बाद सूर्य भगवान की पूजा करते हुए रविवार व्रत कथा सुन कर सूर्य भगवान का भोग लगाकर दिन में एक […]

Mahashivaratri Vrat Katha in Hindi

Shiva

महाशिवरात्रि की पवित्र प्रामाणिक कथा पूर्व काल में चित्रभानु नामक एक शिकारी था। जानवरों की हत्या करके वह अपने परिवार को पालता था। वह एक साहूकार का कर्जदार था, लेकिन उसका ऋण समय पर न चुका सका। क्रोधित साहूकार ने शिकारी को शिवमठ में बंदी बना लिया। संयोग से उस दिन शिवरात्रि थी। शिकारी ध्यानमग्न […]

Shani Gochar 2017-2020 in Hindi | शनि गोचर 2017-2020 | शनि का धनु राशि में गोचर

कैसा रहेगा आपके लिए शनि का धनु राशि में गोचर? 26 जनवरी, 2017 को रात ७.३० बजे शनि अपनी शत्रु राशि वृश्चिक से से सम राशि धनु में प्रवेश करेंगे| इस राशि में २४ जनवरी 2020 तक रहेंगे| इस बीच में शनि २१ जून, 2017 को वक्री स्तिति में वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे और […]

Meen Rashifal 2017-2018 in Hindi | मीन राशि भविष्य २०१७-२०१८

meen-rashi-no-watermark

नाम के अनुसार मीन राशि: दी, दू, ज्ञ, झा, था, दे, दो, चा, ची| नक्षत्र के अनुसार मीन राशि: पूर्वभाद्र (पूर्वाभाद्रपद) नक्षत्र का चौथा चरण; उत्तरभाद्र (उत्तराभाद्रपद) नक्षत्र का चारों चरण; रेवती नक्षत्र का चारों चरण| पाश्चात्य ज्योतिष के अनुसार  मीन राशिवाले वे है जो २० फरवरी और २० मार्च दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि)| भारतीय वैदिक ज्योतिष […]

Kumbh Rashifal 2017-2018 in Hindi | कुम्भ राशि भविष्य २०१७-२०१८

kumbh-rashi-no-watermark

नाम के अनुसार कुम्भ राशि: गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा| नक्षत्र के अनुसार कुम्भ राशि: धनिष्ठा नक्षत्र का तृतीय और चौथा चरण; शतभिषा (शतर्क) नक्षत्र का चारों चरण; पूर्वभाद्र (पूर्वाभाद्रपद) नक्षत्र का प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण| पाश्चात्य ज्योतिष के अनुसार  कुम्भ राशिवाले वे है जो २१ जनवरी और १९ फरवरी दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि)| […]

Makar Rashifal 2017-2018 in Hindi | मकर राशि भविष्य २०१७-२०१८

makar-rashi-no-watermark

नाम के अनुसार मकर राशि: भो, जा, जी, जू, जे, जो, ख, गा, गी| नक्षत्र के अनुसार मकर राशि: उत्तराषाढ़ा नक्षत्र का द्वितीय, तृतीय और चौथा चरण; श्रवण नक्षत्र का चारों चरण; धनिष्ठा नक्षत्र का प्रथम और द्वितीय चरण| पाश्चात्य ज्योतिष के अनुसार  मकर राशिवाले वे है जो २२ दिसम्बर और २० जनवरी दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि)| भारतीय वैदिक […]

Dhanu Rashifal 2017-2018 in Hindi | धनु राशि भविष्य २०१७-२०१८

dhanu-rashi-no-watermark

नाम के अनुसार धनु राशि: ये, यो, बा, बि, बी, भू, ध, भा, ढ, भे| नक्षत्र के अनुसार धनु राशि: मूल नक्षत्र का चारों चरण; पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र का चारों चरण; उत्तराषाढ़ा नक्षत्र का प्रथम चरण| पाश्चात्य ज्योतिष के अनुसार  धनु राशिवाले वे है जो २३ नवम्बर और २१ दिसम्बर दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि)| भारतीय वैदिक ज्योतिष के अनुसार धनु राशिवाले […]

Vrischik Rashifal 2017-2018 in Hindi | वृश्चिक राशि भविष्य २०१७-२०१८

vrischik-rashi-no-watermark

नाम के अनुसार वृश्चिक राशि: तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू| नक्षत्र के अनुसार वृश्चिक राशि: विशाखा नक्षत्र का चौथा चरण; अनुराधा नक्षत्र का चारों चरण; ज्येष्ठ नक्षत्र का चारों चरण| पाश्चात्य ज्योतिष के अनुसार  वृश्चिक राशिवाले वे है जो २४ अक्टूबर और २२ नवम्बर दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि)| भारतीय वैदिक ज्योतिष के अनुसार वृश्चिक राशिवाले वे […]

Tula Rashifal 2017-2018 in Hindi | तुला राशि भविष्य २०१७-२०१८

tula-rashi-no-watermark

नाम के अनुसार तुला राशि: रा, री, रू, रे, रो, त, ती, तू, ते| नक्षत्र के अनुसार तुला राशि: चित्र नक्षत्र का द्वितीय, तृतीय और चौथा चरण; स्वाति नक्षत्र का चारों चरण; विशाखा नक्षत्र का प्रथम द्वितीय और तृतीय चरण| पाश्चात्य ज्योतिष के अनुसार  तुला राशिवाले वे है जो २४ सितम्बर और २३ अक्टूबर दिनाक के बीच जन्म लिया है (सूर्य राशि)| भारतीय […]